Breaking News
Home / blood test / SGOT Test in hindi – क्यों और किस कारण बढ़ता है SGOT – sgot kya hai
sgot test in hindi

SGOT Test in hindi – क्यों और किस कारण बढ़ता है SGOT – sgot kya hai

SGOT TEST in hindi

SGOT अर्थात Serum Glutamic-Oxaloacetic Transaminase एक प्रकार का एंजाइम है जो लीवर में पाया जाता है इसको AST(Aspartate Aminotransferase) के नाम से भी जाना जाता है। जब लीवर में किसी प्रकार की बीमारी या कोई क्षति होती है तो इस एंजाइम की मात्रा हमारे रक्त में बढ़ जाती है जो किसी प्रकार की लीवर की बीमारी की तरफ इशारा करती है। sgot test in hindi

SGOT Level increaes in Diseases

SGOT का लेवल मुख्यतः निम्नलिखित लीवर की बीमारियों में बढ़ जाते है।

  • अल्कोहलिक लीवर डिजीज
  • हेपेटाइटिस
  • सिरोसिस

लीवर की बीमारी अकेले SGOT टेस्ट से कन्फर्म नहीं होती इसके लिए कई और टेस्ट भी करवाएं जाते है जैसे SGPT या ALT इत्यादि आज हम सिर्फ SGOT के बारें में चर्चा करेंगे। लीवर के ईलावा SGOT अन्य अंगो में भी पाया जाता है जैसे हृदय, किडनी, ब्रेन, मासपेशियों  इत्यादि तो इन अंगो से सम्बंधित रोगों में भी SGOT का लेवल रक्त में बढ़ सकता है जैसे मासपेशियों को हानि होने और हार्ट अटैक की समस्या में भी SGOT का लेवल रक्त में बढ़ जाता है।SGOT Test in hindi

Drugs Increases SGOT Level in hindi

कुछ दवाओं के निरंतर सेवन करने से भी लीवर को हानि होती है जिससे रक्त में SGOT का लेवल बढ़ जाता है। जैसे,

स्टेरॉयड – इसमें बॉडी बनाने और कार्यक्षमता बढ़ने के लिए उपयोग में लिए जाने वाले एनाबोलिक स्टेरॉयड जैसे NANDROLONE आदि ज्यादा हानिकारक है।SGOT Test in hindi

NSAID (Non steroidal Anti-inflammatory Drugs)– इसमें मुख्यतः दर्द निवारकऔर बुखार को कम करने वाली  दवाईयां आती है। जैसे Nimesulide, Aspirin, Paracetamol इत्यादि की अत्यधिक सेवन भी लीवर को हानि पहुंचाता है जिससे SGOT का लेवल बढ़ जाता है।SGOT Test in hindi

कोलेस्ट्रॉल कम करने की दवाईयों – इनको STATIN कहा जाता है ये भी रक्त में SGOT की मात्रा को बढ़ा सकती है जैसे ATORVASTATIN मुख्य रूप से आजकल कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए दी जा रही है।SGOT Test in hindi

Liver Reactivator For Sgot

SGOT Normal range in hindi

सामान्यता SGOT की रक्त में मात्रा 5 से 40 U/L होती है परन्तु अलग अलग लेबोरेटरी में इसके सामान्य मात्रा में थोडा बहुत परिवर्तन हो सकता है।SGOT Test in hindi

Precaution For SGOT test in hindi

इस टेस्ट के लिए रक्त के सैंपल की जरुरत होती है जो रोगी के बाजु से लिया जाता है जिसके लिए कोई विशेष तैयारी या सावधानी  की जरुरत नहीं होती आप जब चाहे ये टेस्ट करवा सकते है इसमें कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी है। SGOT Test in hindi

SGOT टेस्ट करवाने से दो दिन पहले तक दवाई जैसे पेरासिटामोल का भी सेवन न करे  आप जिन दवाओं का सेवन कर रहे हो अपने डॉक्टर को जरुर बताएं।

टेस्ट करवाने से एक रात पहले पानी का अत्यधिक सेवन करे जिससे शरीर हाइड्रेटेड रहेगा और रक्त निकलने में आसानी रहेगी और चक्कर इत्यादि होने के चान्सेस भी कम होते है। SGOT Test in hindi

ESR test in hindi

About Anonymous

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *