Breaking News
Home / Medicine For Heart / Before taking Clopidogrel You must Know about its Effects and herbal alternatives – drughealth.in

Before taking Clopidogrel You must Know about its Effects and herbal alternatives – drughealth.in

Clopidogrel Usage, Effects and Dosage in Hindi

Clopidogrel उपयोग

Clopidogrel का उपयोग हार्ट अटैक और स्ट्रोक से बचाव के लिए किया जाता है, मुख्य रूप से उन लोगों में जिनमे पूर्व में हार्ट अटैक या स्ट्रोक की समस्या हो चुकी है या फिर कोई हार्ट की अन्य समस्या रही हो जैसे हार्ट में stent डला हो उन लोगो में रक्त का थक्का जमने से रोकने के लिए Clopidogrel का उपयोग किया जाता है. Clopidogrel in Heart attaack

Mechanism of Clopidogrel in hindi

Clopidogrel रक्तवाहिनियो को खोलकर रखती है साथ में रक्त का थक्का जमने से रोकती है. Clopidogrel प्लेटलेट्स को आपस में जुड़ने से रोकती है जिससे रक्त का थक्का नहीं जमता है और रक्त वाहिनियो में रक्त सही ढंग से बहता है. Clopidogrel in Heart attaack

Clopidogrel के दुष्प्रभाव

उल्टी, दस्त, Rashes, Neutropenia (low level of Neutrophils in blood),रक्तस्राव सम्बंधित समस्याए

Clopidogrel Contraindication

इन बीमारियों में Clopidoigrel का उपयोग नहीं करना चाहिये

पेट या आंतो में छालें होने पर, सर्जरी, रक्तस्राव सम्बंधित समस्याए (हेमोफिलिया, vitamin K की कमी ,  Platelet की कमी ), hypersestivity, Pregnancy and breastfeeding.(consult your Doctor or Pharmacist).

Clopidogrel interaction – Clopidogrel in Heart attaack

  • grapefruit juice (चकोतरा ) के साथ Clopidogril का सेवन करने से Clopidogrel का असर कम हो जाता है .
  • Clopidogrel दवा का सेवन करते हुए ज्यादा शराब पीने से पेट में कई समस्याए पैदा हो जाती है जैसे जलन, दर्द.
  • Clopidogrel को Aspirin के साथ लेने से इनका प्रभाव बढ़ जाता है.
  • Clopidogrel के साथ अन्य दवाओ का सेवन करने से उनका असर बढ़ जाता है. क्योकि clopidogrel अन्य दवाओ के मेटाबोलिज्म को कम करती है. जिस से इन दवाओं की मात्रा रक्त में अधिक देर तक रहती है, जिस से उन दवाओं के प्रभाव और साइड इफ़ेक्ट बढ़ जाते हैं. Clopidogrel in Heart attaack

Clopidogrel Dose

75 mg रोजाना

Natural Herbal Altrnatives of Clopidogrel in hindi

रक्त को पतला  करने के लिए आप अपने भोजन में ये निमिन्लिखित घरेलु चीजों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. ये रक्त को  पतला करने में बहुत ही सहायक हैं. और आधुनिक विज्ञान भी इनकी ताक़त को मानता है. और ये सिर्फ आपके ज्ञान के लिए हैं हम यहाँ पर आपको कोई दवा बंद करने या चालु करने के लिए नहीं कह रहें. आप अपने डॉक्टर और फार्मासिस्ट से ज़रूर राय करें. Clopidogrel in Heart attaack

Garlic लहसुन
Ginger अदरक
turmeric हल्दी
bromelain(pineaaple) अनानास
Ginko Biloba जिन्को बिलोबा

Clopidogrel Usage, Effects and Dosage

Clopidogril Uses

Clopidogrel is used to prevent Heart attack and strokes in persons with Heart Diseses Speciely  in persons suffered from recent Heart Attack or Stroke and other Blood circulation disease.Clopidogrel in Stroke

How Clopidogrel Work in Heart Diseses

Clopidogrel keep Blood vessels open and prevent Blood Clot.Clopidogrel works by blocking platelets from sticking together and prevents them from forming harmful clots. It is an antiplatelet drug. It helps keep blood flowing smoothly in your body.Clopidogrel in Stroke

Clopidogrel Side Effect

Diarrhoea, Rashes, Neutropenia(low level of Neutrophils in blood), Bleeding problems etc

Clopidogrel Contraindication

Clopidogrel should not taken in following Diseses and Conditions.Clopidogrel in Stroke

Peptic Ulcer (Ulcer in stomach or intestine), Bleeding Disorders ( Hemophilia, vitamin K deficiency, low Platelet count ) hypersestivity, Sugery, liver Diseses,  Pregnancy and breastfeeding.(consult your Doctor or Pharmacist)

Clopidogrel interaction

  • When clopidogrel is taken with grapefruit juice, the grapefruit juice may prevent your body from activating clopidogrel and it may not work as well.
  • avoid alcohol while taking Clopidogrel too much Alcohol produce irritation in stomach
  • Aspirin taken with Clopidogrel Produce additive Effect (incresed effect) as Antithrombic agent.
  • Other drug effect increses While taken With Clopidogrel because clopidogrel inhibit the metabolism of other drug thus increses the blood concentration of drugs. Clopidogrel in Stroke

Clopidogrel Dose

75 mg Daily

This artical is for informative purpose only . Do not substitute any Medical Advice. before Substituting any Medicine consult to your Doctor or Pharmacist

 

About Anonymous

5 comments

  1. Very nice Post

  2. संतोष भारती

    मेरी माता जी का उम्र ६२ वर्ष है । २००५ से वो हृदय रोग की समस्या से ग्रसित हैं । २००९ में उन्हें AIIMS नई दिल्ली में दो stent लगा। तब से दवाइयाँ चल रही थी और वो बिलकुल ठीक थी। किंतु इस वर्ष जुलाई २०१७ में उन्हें शरीर में शूजन आया तत्पश्चात जाँच के पश्चात उनका creatinine १.५८ था। डॉक्टर ने AIIMS नई दिल्ली रेफ़र कर दिया। यहाँ डॉक्टर ने जाँच किया एवं Eritel CH 40 बंद कर Eritel 40 कर दिया और जाँच में creatinine १.७ आया। डॉक्टर ने बोला दोनो किड्नी डैमिज है और creatinine कम नहीं होगा बढ़ेगा। पुनः मैं मैक्स हॉस्पिटल साकेत दिल्ली गया । वहाँ जाँच के पश्चात creatinine १.३ आया । एवं बायाँ किड्नी नॉन्फ़ंक्शनल निकला । दवा में पुनः परिवर्तन हुआ । एक महीने पश्चात अचानक हार्ट पेन हुआ । जाँच उपरांत पता चला वो हार्ट अटैक तो नहीं है किंतु माइल्ड ब्लॉकिज है । किंतु दवा का ही सेवन करें क्यूँकि समय बड़ा नहीं है । अभी creatinine १.२ है । क्या करें कुछ उपाय सुझाएँ ।

  3. dose for domperidone for breastfeeding domperidone treatment for extrapyramidal symptoms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *