Breaking News
Home / Specific test / Biopsy Test In Hindi- Biopsy टेस्ट क्या है और ये क्यों किया जाता है ?
Biopsy test in hindi
credit:- London Health Sciences Centre

Biopsy Test In Hindi- Biopsy टेस्ट क्या है और ये क्यों किया जाता है ?

Biopsy Test In Hindi

बायोप्सी क्या होती है और कैसे की जाती है ? Biopsy kya hoti hai ? biopsy kaise hoti hai ?

Biopsy Test In Hindi जब कभी शरीर में कोई गाठ बन जाती है या लिम्फ नोड में किसी प्रकार की वृद्धि हो जाती है तो डॉक्टर Biopsy करने के लिए बोलते  है Biopsy में गाठ वाले हिस्से को सुन करके वहा से गाठ का  छोटा सा टुकड़ा निकाल लिया जाता है। फिर इस टुकड़े को फोर्मालीन में डालकर सुरक्षित करके जाँच के लिए भेजा जाता है लेबोरेटरी में इसकी जाँच की जाती है।

Biopsy क्यों की जाती है ?

वैसे तो Biopsy कई समस्याओं में की जाती है लेकिन  मुख्य रूप से Biopsy कैंसर के होने या न होने के बारे में बताती है ।Biopsy Test In Hindi

Biopsy Test in hindi

Biopsy से हमें कैंसर के बारे में निम्नलिखित जानकारी मिलती है।

  • मरीज को कैंसर है या नही इसे के साथ हमें ये भी जानकारी मिलती है।
  • कैंसर का प्रकार क्या है।
  • इसके साथ साथ कैंसर की स्टेज के बारे में भी पता लग जाता है कि कैंसर किस स्टेज का है मुख्य रूप से कैंसर की चार स्टेज होती है।
  •   इस कैंसर का इलाज किस प्रकार संभव हो सकता है जैसे की दवाईयों के द्वारा या फिर ऑपरेशन या अन्य किसी तरीके से।

cancer diet chart in hindi

मुख्य रूप से Biopsy कैंसर का पता लगाने के लिए की जाती है इसका मतलब ये नही है की अगर किसी की बीओप्सी की जा रही है तो उसको कैंसर ही हो सकता है कैंसर के इलावा अन्य कई समस्याओ का पता लगाने के लिए बीओप्सी की जा सकती है। जैसे

  1. Biopsy से पता लगाया जाता है कि पेट में होने वाले छाले (Peptic ulcer)दर्द निवारक दवाओं के अत्याधिक सेवन से हुए है या अन्य किसी कारण से।
  2. छोटी आंत की Biopsy से छोटी आंत में अवशोषण सम्बंधित समस्याओं , Anaemia (खून की कमी ), Celiac Disease जो सामान्यता छोटे बच्चो में पाई जाती है जिसमे बच्चे ग्लूटीन प्रोटीन का पाचन और अवशोषण नहीं कर पाते।
  3. लीवर में tumor और कैंसर के ईलावा Biopsy से लीवर सिरोसिस और लीवर फाइब्रोसिस का पता भी लगाया जा सकता है।इसके अतिरिक्त शराब से लीवर खराब होने और लीवर में सुजन होने पर भी BIOPSY की जा सकती है ।
  4. नीडल या सुई Biopsy के द्वारा किसी प्रकार के इन्फेक्शन का पता भी लगाया जा सकता है जैसे कुष्ट रोग और टी बी में नीडल या सुई Biopsy से इन्फेक्शन और इन्फेक्शन के कारण का पता लगाया जाता है।
  5. शरीर में किसी प्रकार की सुजन या inflammation के कारण का का पता भी नीडल या सुई Biopsy के द्वारा लगाया जा सकता है।

ESR TEST IN HINDI

Biopsy जिस स्थान पर की जाती हैं वहा पर दर्द और सुजन होती है इसको ठीक करने के लिए दर्द निवारक दवाईयां और एंटीबायोटिक दी जाती है ताकि किसी प्रकार के इन्फेक्शन को रोका जा सके Biopsy Test In Hindi

क्या बायोप्सी करवानी चाहिए ? kya biopsy karwani chahiye

Kya biopsy karwani chahiye – अगर आप के शरीर में कोई असाधारण मांस का टुकड़ा बढ़ गया है, या कोई टयूमर हो गया है, और आपको इसके कैंसर के होने की आशंका है तो आपके पास दो option होते हैं, अगर तो आप Allopathic Cancer treatment लेना चाहते हैं तो फिर तो डॉक्टर आप को यह करवाने की सलाह ज़रूर देगा इसके बाद ही वो अपनी कीमो या रेडियो थेरेपी के बारे में आगे प्लान बनाएगा, और अगर आप एलोपैथिक में नहीं जाना चाहते तो आयुर्वेद या नेचुरोपैथी भी आपके लिए एक बहुत बेहतर विकल्प है, अगर आप आयुर्वेद या नेचुरोपैथी में जाना चाहते हैं तो आप ये मान कर चलिए के आपको कैंसर हैं और आप इसका इलाज करवाना चाहता हैं. ऐसे में Biopsy अगर ना भी करेंगे और कैंसर का इलाज लेना शुरू करेंगे तो तो भी चलेगा. इस में आप Biopsy से इन्फेक्शन होने की सम्भावना से बच जायेंगे.

और अगर आप कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज करना चाहें तो आप Only Ayurved का डाइट चार्ट ज़रूर फॉलो करें. इस डाइट चार्ट से हमने भी अनेक रोगी बिना दवा के सही कर दिए हैं. वो डाइट चार्ट आपको यहाँ से मिल जायेगा.

[Only Ayurved Cancer Diet Chart In Hindi]

About Anonymous

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *